Singrauli News: सरई कोलयार्ड के विरोध में मुखर होने लगे रहवासी

By
Last updated:

सिंगरौली । सरई रेलवे स्टेशन प्लेटफॉर्म नम्बर 2 पर कोलयार्ड बनाये जाने का विरोध शुरू हो गया है। स्थानीय रहवासियों ने इसके खिलाफ मुखर हो गये हैं और अपना विरोध भी दर्ज कराने लगे हैं।

गौरतलब है कि सरई रेलवे स्टेशन में कोयला डम्पिंग का काम एक कोल कंपनी अदाणी समूह रेलवे को सौंप दिया है। जहां प्लेटफॉर्म पर कोयले के डम्प का कार्य भी शुरू है। सरई रेलवे स्टेशन में कोयला डम्प एवं मिट्टी फिलिंग किये जाने की जानकारी लगते ही सरई अंचल के रहवासियों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया है। आरोप है कि रेलवे ने सरईवासियों को कोयले की डस्ट में धकेलना चाहता है। इसीलिए यहां कोलयार्ड बनाया जा रहा है। रेलवे स्टेशन में कोलयार्ड बनने से मुसाफिरों के साथ-साथ कोनी, समूद, ईटमा, सरई, अमहा टोला के लोगों को डस्ट से जूझना पड़ेगा। रेलवे को भले ही राजस्व के रूप में बड़ा लाभ मिलेगा। लेकिन यहां के लोगों के जिंदगी के साथ क्या होगा। किन-किन बीमारियों से संघर्ष करेंगे । यह तो आने वाला वक्त भी बताएगा। उधर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी सरई के अध्यक्ष रणबहादुर सिंह के अगुआई में एसडीएम देवसर- सरई के नाम तहसीलदार सरई चन्द्रशेखर मिश्रा को 21 सूत्रीय मांग पत्रों का ज्ञापन सौंप कर उक्त बिन्दुवार समस्याओं को निराकरण कराये जाने के लिए पॉच दिनों का वक्त देते हुये है और कहा है कि यदि कार्रवाई नही होगी तो कांग्रेसी आंदोलन करेंगे। ज्ञापन में पहले नम्बर पर कोलयार्ड है।

खनिज टीम के पहुंचे के पहले ठेकेदार मशीन के साथ गायब

दरअसल रेलवे प्लेटफार्म पर मिट्टी फिलिंग का कार्य जोरशोर से किया जा रहा था। आरोप है कि सरई अंचल में जगह-जगह मिट्टी का पीसी मशीन से अवैध उत्खनन कर ट्रैक्टरों से परिवहन कराया जा रहा है। इसकी शिकायत कलेक्टर एवं जिला खनि अधिकारी के पास की गई। जहां सहायक खनि अधिकारी डॉ विद्याक ांत तिवारी ने टीम के साथ औचक निरीक्षण करने पहुंचे । लेकिन खनिज विभाग टीम के पहुंचने के पूर्व ही ठेकेदार पीसी मशीन को लेकर भाग खड़ा हुआ । बताया जा रहा है कि इसकी जानकारी लीक हो गई। जिसके चलते ठेकेदार भागने में सफल रहा । फिर भी खनिज विभाग की टीम उत्खनन स्थल की जांच कर अग्रिम कार्रवाई शुरू कर दिया। वही आरोप है कि यह अवैध उत्खनन सरई के राजस्व एवं पुलिस के संरक्षण में चल रहा है।

इनका कहना:-

सरई रेलवे स्टेशन में कोयलयार्ड नहीं बनना चाहिए। उससे लोगों को बहुत ज्यादा परेशानी होगी। रेलवे स्टेशन के अलावा डस्ट का असर सरई कस्बे व इर्दगिर्द रहेगा। लोग तरह-तरह की बीमारियों से ग्रसित होंगे।

अशोक जायसवाल

निवासी सरई

इनका कहना:-

सरई में कोलयार्ड बनने से यहां के लोगों को अनेकों समस्याओं से जूझना पड़ेगा। सरकार एवं रेलवे विभाग राजस्व आय के चक्कर में सरईवासियों के जिदंगी के साथ खेलवाड़ किये जाने के लिए कदम उठाया जा रहा है। कांगे्रसपार्टी इसका पुरजोर विरोध करेगी ।

रामबालक दुबे

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता, सरई

इनका कहना:-

सरई में कोलयार्ड हो जाने से कोनी, समूद, ईटमा, सरई, अमहा टोला के आम नागरिकों को विशेष समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। कई बीमारियां उत्पन्न होगी। क्योंकि कोयला के डस्ट से प्रदूषण बढ़ेगा और कोयला के धुएं से लोगों को विभिन्न बीमारी उत्पन्न होगी। साथ ही सरई क्षेत्र में एक्सीडेंट की घटनाएं बढ़ेगी।

रामसिया जायसवाल

उपाध्यक्ष अधिवक्ता संघ, देवसर

इनका कहना:-

सरई रेलवे स्टेशन में कोयला डंम्प नहीं बनना चाहिए। आगे आने वाले समय में आम जनमानस को समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। वहां हमेशा धूल और डस्ट उड़ेगा। जिसमें लोगों को परेशानी होगी। नगर परिषद द्वारा भी इसका विरोध किया गया। लेकिन रेलवे विभाग द्वारा अदाणी कंपनी को जमीन देकर कोयलयार्ड बनवा रही है। जो बिल्कुल गलत है।

विजय गुप्ता

नगर परिषद उपाध्यक्ष, सरई

न्यूज वेबसाइट बनवाने के लिए संपर्क कीजिए -7805875468

Leave a Comment

Live TV