Flesh-Eating Bacteria: खतरनाक वायरस की फिर दुनिया में दस्तक, लक्षण मिलने के 48 घंटे बाद मौत

By
Last updated:

जापान एक बैक्टीरिया से होने वाली जानलेवा बीमारी से दहल गया है। यह बीमारी इतनी खतरनाक है कि इससे अड़तालीस घंटे के अंदर लोगों की मौत हो जा रही है। इस बीमारी को स्ट्रेप्टोकोकल टॉक्सिक शॉक सिंड्रोम (STSS) नाम दिया गया है। जापान के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंफेक्शियस डिजीज की ताजा रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि 2 जून तक मांस खाने वाले बैक्टीरिया के 977 मामले सामने आ चुके हैं। पिछले साल इन मामलों की संख्या 941 थी. जापान में फैल रही एक दुर्लभ बीमारी 2 दिन में किसी भी व्यक्ति की जान ले सकती है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, जापान में इन मामलों की संख्या 2500 को पार कर सकती है।

जापान में कोविड काल के दौरान लोगों को दी गई छूट के कारण यह बीमारी अब तेजी से फैल रही है। रिपोर्ट में अनुमान लगाया गया है कि पीड़ित की महज अड़तालीस घंटे में मौत हो सकती है. इस बीमारी के कारण बच्चों के गले में सूजन की समस्या हो जाती है। इसे स्ट्रेप थ्रोट भी कहा जाता है। हाथ-पैरों में दर्द, सूजन, बुखार, निम्न रक्तचाप भी बैक्टीरिया के गंभीर लक्षण हैं। 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को इस बीमारी का खतरा अधिक होता है। मेडिकल इंस्टीट्यूट के विशेषज्ञों की राय भी इससे अलग नहीं हैI इस बीमारी से मृत्यु दर 30 फीसदी है और मामले 2500 से भी ज्यादा हो सकते हैंI

इस बीमारी को लेकर विशेषज्ञों का कहना है कि लोग लगातार अपने हाथ साफ करते रहेंI घाव का तुरंत इलाज डॉक्टर से करवाएं. टोक्यो महिला मेडिकल यूनिवर्सिटी में संक्रामक रोग के प्रोफेसर कि अधिकांश मौतें अड़तालीस घंटे के भीतर हो रही हैंI मरीज के पैर में सूजन दिखाई देती हैI संक्रमण की वर्तमान दर के अनुसार में इस साल मामलों की संख्या 2500 तक पहुँच सकती है और मृत्यु दर 30% तक पहुँच सकती है. इस बीमारी से बचाव के लिए जरूरी है कि बैक्टीरिया ना पनपे इसलिए समय पर आप हाथ धोते रहें हाइजीन का पूरा ख्याल रखेंI और संक्रमित व्यक्ति से पर्याप्त दूरी बनाकर रखेंI

ये हैं बीमारी की लक्षण- These are the symptoms of the disease

-बुखार
-सर्दी, खांसी, जुकाम
-हृदय की धड़कन बढ़ना
-सांस की रफ्तार बढ़ना
-लकवा मार जाना

 

न्यूज वेबसाइट बनवाने के लिए संपर्क कीजिए -7805875468

Leave a Comment

Live TV